Chhattisgarh

णमो अरिहंताणम् से अनंत तीर्थंकर परमात्माओं को होता है नमनः वैराग्यनिधि

रायपुर। जिनकुशल सूरि जैन दादाबाड़ी में जैनसाध्वी वैराग्यनिधि ने कहा कि नवकार महामंत्र का अद्भुत और चमत्कारी वैज्ञानिक प्रभाव होता है। नवकार महामंत्र में अरिहंत परमात्माओं, सिद्ध भगवंतों सम्पूर्ण जगत के आचार्यों, उपाध्यायों और साधु-संतजनों को नमन निहित है। इसके सिर्फ एक पद ‘णमो अरिहंताणम्‘ के भावपूर्ण उच्चारण से विश्व असंख्य विशुद्ध आत्माएं जिन्हें तीर्थंकर परमात्मा कहा जाता है उन अनंत प्रभु परमात्माओं को एक साथ हमारा नमन हो जाता है। ऋषि मंडल के प्रथम स्तोत्र के एकमात्र ‘अर्हम्’ शब्द के जाप का अद्भुत प्रभाव देखा गया है। ‘उं ह्रीं अर्हम् नमः’ के जाप प्रभाव से दिगम्बर मुनि भगवंत हिमालय के शून्य डिग्री सेल्सियश में भी उष्णता की अनुभूति करते हैं। इस मंत्र शब्द का वैज्ञानिक प्रभाव अनुभूत हम कर पाते हैं। ‘र’ अक्षर को अग्नि अक्षर माना गया है। ‘र’ अक्षर के अ, ह, और म अक्षर का गुम्फित प्रभाव से ‘र’ अक्षर के अग्नि तत्व को संतुलित बनाए रखते हैं। मंत्र साधना की सकारात्मक तरंगों से निर्मित उर्जा के प्रभाव से असाध्य रोगों का तक निवारण होते देखा गया है। आवश्यकता है तो केवल भावों और एकाग्रतापूर्वक साधना की। नवकार महामंत्र के केवल एक बार भावों से स्मरण किया जाए तो 1. कोटा-कोटि सागरोपम जितने पापों का नाश हो जाता है।
साध्वी ने कहा कि कभी-कभी केवल तन के माध्यम से किया हुआ सुकृत्य भविष्य के लिए महान कल्याणकारी बन जाता है। इसीलिए संसारी मनुष्य को किसी भी शुभ क्रिया में पहले तन से जोड़ा जाता है, फिर मन धीरे-धीरे उसमें स्वतः जुड़ता चला जाता है। जबकि अशुभ क्रियाओं में पहले मन जुड़ता है, फिर वाणी और उसके बाद काया की ओर से वही अतिचार या अनाचार का सेवन कर लिया जाता है।
श्रद्धालुओं ने लिया क्रोध त्याग का संकल्प
आज प्रवचन उपरांत धर्मसभा में पूज्या साध्वी ने श्रावक-श्राविकाओं को क्रोध त्याग का संकल्प अर्थात् पचक्खाण कराया। क्रोध त्याग मासक्षमण की यह तपस्या पूरे तीस दिन की जाएगी। प्रतिदिन तीस दिनों तक इस तप का पचक्खाण कराया जाएगा। यदि किसी कारणवश क्रोध आ भी जाए तो जीवदया के रूप में प्रति क्रोध अर्थदान के साथ प्रभु परमात्मा के समक्ष प्रायश्चित कर आत्मआलोचना करनी होगी। आज इस संकल्पबद्ध उपवास का बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने संकल्प धारण किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.