Chhattisgarh

इको-फ्रेंडली गणेश प्रतिमा बना रहा “एक पहल”

विसर्जन उपरांत पौधों को जीवन भी देंगी ये प्रतिमाएं
रायपुर। पर्यावरण संरक्षण के लिए कार्य कर रही स्मार्ट सिटी रायपुर की संस्था “एक पहल” के सदस्य आज कमिश्नर रजत बंसल से भेंटकर गणेश चतर्थी के अवसर पर इको-फ्रेंडली प्रतिमा के निर्माण तथा प्रतिमाओं को नदी में विसर्जन की जगह गार्डन व गमलों में मिट्टी के साथ उपयोग कर एक पौधे को नया जीवन देने की योजना की विस्तार से जानकारी दी। कमिश्नर बंसल ने समाज सेवी संगठनों द्वारा पर्यावरण संरक्षण की इन गतिविधियों की सराहना की है।
“एक पहल सेवा समिति” जो की रायपुर शहर सहित पूरे प्रदेश में गौ सेवा व पर्यावरण संबंधी गतिविधियां कर रहा है, इस संस्था के अध्यक्ष राजकुमार साहू व उपाधय् रितेश अग्रवाल ने बताया कि गणेष चतुर्थी पर पर्यावरण अनुकूल (इको-फ्रेंडली) गणेश की 1000 प्रतिमाएं बनाने की योजना है। इन प्रतिमाओं को 70 प्रतिशत मिट्टी 20 प्रतिशत गोबर एवं 10 प्रतिशत खाद डालकर बनाई जाएगी, इन प्रतिमाओं को 1 फीट, 1.25 फीट व 1.50 फीट के मापदण्डों अनुसार बनाया जाएगा, जिसे उत्सव संपन्न होने के बाद जलाशयों में विसर्जित न कर किसी गार्डन व गमलों में विसर्जित कर एक प्रतिमा की मिट्टी से एक पौधा को जीवन दिया जा सकेगा।
संस्था के रितेश अग्रवाल ने बताया कि “एक पहल सेवा समिति” न सिर्फ प्रतिमाओं की बनावट का काम करती है, साथ ही साथ हवन व दाह संस्कार के कार्यों में इस्तेमाल होने वाली सामग्रियों का निर्माण भी देशी गाय के गोबर से किया जाता है। इस तरह से उत्पन्न भस्म जो नदियों में प्रवाहित की जाती है, वह भी पर्यावरण संरक्षण के लिए अनुकूल है।इस सामग्री को प्राप्त करने हेतु गरीब व निर्धन परिवारों से निम्नतम लागत शुल्क लिया जाता है। इन सामग्रियों को प्राप्त करने हेतु एक पहल संस्था के अग्रसेन चौक कार्यालय , रामसागरपारा में संपर्क किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.