National/International

इस्पात मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने ‘वोल्गा से शिवनाथ तक’ के द्वितीय संस्करण का विमोचन किया

– भिलाई के निर्माण में सोवियत संघ (रूस) और भारतीयों के योगदान पर केंद्रित है किताब –
रायपुर (विश्व परिवार)।  वोल्गा से शिवनाथ तक के लेखक व पत्रकार मुहम्मद जाकिर हुसैन ने अपने इस ऐतिहासिक कृति में भिलाई इस्पात संयंत्र के प्रेरक इतिहास को बड़े ही रोचक शैली में संजोने का सफल प्रयास किया है। इसके प्रथम संस्करण की लोकप्रियता को देखते हुए इसके दूसरे संस्करण को शीघ्र ही प्रकाशित किया गया।*
स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड, सेल की ध्वजवाहक इकाई भिलाई इस्पात संयंत्र व इसकी खदानों के रोचक इतिहास को संजोती लेखक व पत्रकार मुहम्मद जाकिर हुसैन की कृति वोल्गा से शिवनाथ तक के दूसरे संस्करण का विमोचन माननीय पेट्रोलियम व प्राकृतिक गैस एवं इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने 20 फरवरी, 2020 गुरूवार की शाम भिलाई निवास में एक संक्षिप्त किंतु गरिमामय समारोह में किया।
इस अवसर पर सेल के डायरेक्टर (प्रोजेक्ट्स एवं बिजनेस प्लानिंग) तथा भिलाई इस्पात संयंत्र के सीईओ अनिर्बान दासगुप्ता तथा न्यू प्रेस क्लब ऑफ भिलाई की अध्यक्ष भावना पांडे भी लेखक के साथ विशेष रूप से उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि लेखक व पत्रकार मुहम्मद जाकिर हुसैन की किताब ‘वोल्गा से शिवनाथ तक’ के प्रथम संस्करण का विमोचन गत वर्ष 7 फरवरी, 2019 को राजधानी रायपुर में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह व प्रथम मुख्यमंत्री  अजीत जोगी ने एक साथ एक गरिमामय समारोह में किया था। भारत और तत्कालीन सोवियत संघ के संबंधों के परिप्रेक्ष्य में भिलाई व इसकी खदानों के रोचक इतिहास पर केंद्रित इस किताब के दूसरे संस्करण में स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड के डायरेक्टर (प्रोजेक्ट्स एवं बिजनेस प्लानिंग) तथा भिलाई इस्पात संयंत्र के मुख्य कायर्पालक अधिकारी अनिर्बान दासगुप्ता का साक्षात्कार और भिलाई व इसकी खदानों के इतिहास से जुड़ी रोचक सामग्री शामिल की गई है।
विमोचन अवसर पर डायरेक्टर (प्रोजेक्ट्स एवं बिजनेस प्लानिंग) तथा बीएसपी के सीईओ  अनिर्बान दासगुप्ता ने इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को किताब की पृष्ठभूमि व लेखक के कार्य से अवगत कराया। मंत्री प्रधान ने लेखक मुहम्मद जाकिर हुसैन के कार्य की सराहना करते हुए इतिहास के दस्तावेजीकरण के क्षेत्र में इसे एक उल्लेखनीय पहल बताया।
इस दौरान लेखक ने जब बताया कि इस किताब में भिलाई के सारे चीफ ऑफ एग्ज़ीक्यूटिव और सारे प्रमुख रशियन के इंटरव्यू है तो मंत्री प्रधान बोले- वाह भिलाई की पूरी कहानी लिख दी आपने। इस अवसर पर न्यू प्रेस क्लब ऑफ भिलाई के पदाधिकारीगण, विभिन्न समाचार पत्र और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के प्रतिनिधि सहित इस्पात मंत्रालय, सेल-बीएसपी के उच्च अधिकारी भी उपस्थित थे।
विदित हो कि लेखक मुहम्मद जाकिर हुसैन ने इससे पूर्व प्रकाशित ‘भिलाई एक मिसाल-फौलादी नेतृत्वकताओं की’ अपनी पुस्तक में भिलाई इस्पात संयंत्र के नेतृत्वकर्ताओं के ऊपर भी अपनी लेखनी का लोहा मनवा चुके हैं। इसके अतिरिक्त अपनी पुस्तक ‘इस्पात नगरी का फौलादी रंगकर्मी-सुब्रत बसु’ में उन्होंने भिलाई के प्रसिद्ध रंगकर्मी एवं सुप्रसिद्ध फिल्म निर्देशक अनुराग बसु के पिता सुब्रत बसु के जीवन संघर्ष को बखूबी पिरोया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *