Chhattisgarh

एक हाथ से दो तो दूसरे को पता भी ना चलें : अतुल जैन

रायपुर (विश्व परिवार)। कोरोना वायरस से विश्व सहित भारत भी इस महामारी से जूझ रहा है। यह वक्त शासन द्वारा जारी एडवायजरी का पालन करने, स्वयं की समझदारी से काम लेने एवं सेवा भाव को जागृत करने का है। यह वक्त एक हाथ से दो तो दूसरे को पता भी ना चले सिद्वांतों का पालन करने का है। अतुल जैन ने बताया कि आज कोरोना वायरस से पूरा विश्व डरा हुआ है, पर हमारे देश में प्रचलित यह कहावत चरितार्थ होता है कि एक हाथ से दें, तो दूसरे हाथ को पता भी ना चले। इसे अच्छी तरह से समझा जाये तो यदि सीधे हाथ से सामथ्र्य योग्य काम कर रहे हैं तो उल्टे हाथ से मोबाईल, विभिन्न सामाग्रियों को उठाना, दरवाजा खोलना जैसे कार्यों को अंजाम दे, यानी एक हाथ से एक तरह का कार्य, जिसमें दूसरे हाथ का इस्तेमाल बिल्कुल भी ना किया जाये, इस तरह के प्रयोग से बहुत हद तक संक्रमण को दूर करने में सहायक हो सकता है। श्री जैन ने उदाहरण देते हुए बताया कि एयरपोर्ट में सिक्योरिटी चेकिंग के दौरान सुरक्षा कर्मियों ने एक हाथ में ग्लब्स पहनकर काम करते हुए दूसरे हाथ को खाली रखते हुए इस कहावत को सटिक रूप से चरितार्थ करते हैं।
——-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *